पिता और बाप

आज पितृदिवस है तो पिता शब्द पर चर्चा करते हैं।

father-son

पिता और बाप इन दोनों शब्दों में वर्ग विभाजन है, शिष्ट-अशिष्ट प्रयोग के रूप में। जो गरीब के लिए बाप है वही मध्यवर्ग और सम्भ्रान्त के लिए पिता, पापा।

√पा (रक्षणे) से पितृ > पिता। ‘पिता पाता वा पालयिता वा।’

पितृ से ग्रीक, लैटिन में पैत्रोस, पैतर; प को फ/व होने पर फादर/ वातर; अनेक यूरोपीय भाषाओँ में इसी से विकसित रूप मिलते हैं- पैडर, पादरी, पेट्रिऑट।

√वप् (बीज बोना) से बाप।

√वप् के कार्य सुरक्षा, पालन और देखरेख से जुड़े हैं। वप् से वप्र, वापक या वप्ता। व का ब होने से > बप्ता > बप्पा > बाप > बापू > बाबू।

अरबी में अबू, फ़ारसी में पेदर, उर्दू - बाप, अब्बा।

बोलियों में अप्पा, अब्बा, बाबा, बाबू, बाऊ, बाबुल, बब्बा आदि रूपान्तर हुए हैं। प्रायः सभी भारतीय भाषाओं में इनमें से कोई-न-कोई रूप पाए जाते हैं। बौज्यू, बुआजू का सम्बन्ध संस्कृत वप्ता/वापक से है।

√वप् (बीज बोना) > वप्ता/वापक (बोने वाला) > बप्ता > बप्पा > बाप (वापक) बापू > बाबू > बाऊ/बुआ।

आदर के लिए जू/ज्यू लगने से कुमाईं में बाबू ज्यू > बाऊ ज्यू> बौज्यू। नेपाली में बुआजू।

2 Likes