दक्षिणपंथ

मोदी विरोध की अंतर्कथा

“मोदी से कुछ लोग इस हद तक घृणा करते हैं कि इस असंगत घृणा की वजह से कई सारे राजनैतिक विश्लेषक अपनी निष्पक्षता/वस्तुनिस्ठता खो रहे हैं। उनको (मोदी को) घुटनों पर देखने के उतावलेपन में वे अर्थहीन शब्दों में अर्थ खोजते हैं” मेरे एक पत्रकार मित्र, जिन्हें मैं बहत लंबे समय से जनता हूँ, ने
Read More